• Breaking News

    Wednesday, 5 August 2015

    7वें वेतन आयोग के लागू होने से बढ़ेगी ग्रोथ: एक्सपर्ट्स


    इकनॉमिक टाइम्स| Aug 5, 2015, 11.56 AM IST, नई दिल्ली: छठे वेतन आयोग ने 2008 की मंदी से भारतीय अर्थव्यवस्था की रक्षा करने में अहम भूमिका निभाई थी। बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच के मुताबिक, छठे वेतन आयोग के क्रियान्वयन के नतीजे में उच्च वेतन से टू-वीलर और कार की सेल्स बढ़ी थी। इसके साथ ही सीमेंट की मांग में रिकवरी हुई।

    छठे वेतन आयोग की सिफारिशों के
    आधार पर सरकारी कर्मचारियों का वेतन औसत 35 फीसदी बढ़ गया, कर्मचारियों को भी अक्टूबर 2008 में छठे वेतन आयोग के देर से क्रियान्वयन के कारण 30 महीने से ज्यादा का एरियर मिला।

    इन्हीं आर्थिक कारणों से ऐनालिस्टों की नजरें 7वें वेतन आयोग की रिपोर्ट पर टिकी है। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, 7वें वेतन आयोग की रिपोर्ट को अगस्त के अंत में या अक्टूबर में जमा किए जाने की उम्मीद है।

    रेलिगेयर के मुताबिक, सातवें वेतन आयोग से केंद्र सरकार के करीब 50 लाख कर्मचारियों (15 लाख रक्षाकर्मी समेत) और 1 करोड़ से ज्यादा राज्य एवं स्थानीय सरकारी कर्मचारों को फायदा पहुंचने की उम्मीद है। आइये जानते हैं 7वें वेतन आयोग से किस तरह भारतीय अर्थव्यवस्था को पहुंचेगा फायदा...


    उपभोग बढ़ेगा


    बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच के इंद्रनील सेन गुप्ता के मुताबिक, 15 फीसदी सैलरी वृद्धि से केंद्र सरकार के सैलरी बिल में 25,000 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी होगी जो जीडीपी का 0.2 फीसदी है। इससे उपभोग बढ़ेगा जो घरेलू इकॉनमी को रफ्तार देगा।

    क्रेडिट सुईस के नीलकांत मिश्रा के मुताबिक, भारत का एक-तिहाई मध्य वर्ग सरकारी नौकरी में है और सातवें वेतन आयोग के क्रियान्वयन के बाद डिस्क्रेशनरी स्पेंडिंग में सुधार होगा। उन्होंने बताया, 'टायर 3 और टायर 4 शहरों में उम्मीद है कि रियल एस्टेट मार्केट जोर पकड़ेगा। इन शहरों में 50-60 फीसदी मध्य वर्ग के लोग रहते हैं।'


    ऑटो और हाउजिंग की डिमांड बढ़ेगी


    बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच का अनुमान है कि सातवें वेतन आयोग में सब्सिडी वाले कार और हाउजिंग लोन में दोगुनी बढ़ोतरी होगी। इससे ऑटो और हाउजिंग की मांग बढ़ेगी।

    Source:- navbharattimes

    No comments:

    Post a Comment

    Highly Viewed

    Comments

    Category

    Contact Form

    Name

    Email *

    Message *

    Google+ Followers